उबर ने अपने अधिकारी को नौकरी से निकाला, गूगल से की थी चोरी

पॉपुलर कैब सर्विस कंपनी उबर ने एंथनी लेवनडोस्की को कंपनी से निकाल दिया है, जो कंपनी की सेल्फ ड्राइविंग कार परियोजना के प्रमुख थे। उन पर गूगल के वेमो से 14,000 पृष्ठों के दस्तावेज की चोरी का आरोप है। वेमो एक स्वायत्त कार विकास कंपनी है, जो गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट से निकली है। लेवनडोस्की उबेर में शामिल होने से पहले वेमो में काम करते थे। वर्ज में मंगलवार को छपी रिपोर्ट के मुताबिक, वेमो 2017 की शुरुआत में उबेर के खिलाफ मुकदमा दायर किया था, जिसमें आरोप लगाया था कि उबेर की सेल्फ ड्राइविंग कार का आधार वे चुराए गए तकनीकी दस्तावेज ही है। मुकदमे के मुताबिक, लेवनडोस्की ने गूगल छोड़ने से 6 हफ्तों पहले कंपनी द्वारा जारी कंप्यूटर से करी 14,000 फाइलें डाउनलोड की थी, जिसमें वेमो के एडआईडीएआर तकनीक संबंधी, सर्किट बोर्ड डिजायनों और टेस्टिंग दस्तावेजों जैसी ट्रेड सीक्रेट थी।

कंपनी ने यह भी आरोप लगाया कि लेवनडोस्की ने अपने लैपटॉप को दुबारा फार्मेट कर अपने क्रियाकलापों के निशान को मिटाने की कोशिश की थी। लेवनडोस्की गूगल में अपने कार्यकाल के बाद उबेर में शामिल हो गए, जहां उन्होंने कंपनी के सेल्फ ड्राइविंग कार्यक्रम को आगे बढ़ाया। उबर ने पहले लेवनडोस्की को सेल्फ ड्राइविंग परियोजना से हटाकर परिचालन विभाग में स्थानांतरित कर दिया था। उबेर ने लेवनडोस्की के खिलाफ आरोपों से इनकार कर दिया है, और अदालत में यह साबित करने की कोशिश कर रहा है कि उसने अपनी सेल्फ ड्राइविंग तकनीक स्वतंत्र रूप से विकसित की है। हालांकि, लेवनडोस्की के बर्खास्तगी के पत्र के मुताबिक उन्हें इसलिए निकाला गया है, क्योंकि वे कंपनी के प्रयासों के साथ सहयोग नहीं कर रहे थे। इस मामले से जुड़े उबेर के एक अधिकारी के मुताबिक, कंपनी ने लेवनडोस्की को इस मामले में कंपनी की आंतरिक जांच में सहयोग करने तथा समयसीमा के अंदर जबाव देने को कहा था। ऐसा करने में लेवनडोस्की नाकाम रहे, जिसके बाद कंपनी ने उन्हें निकाल दिया।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR