डेढ़ दर्जन अंडे, दूध,चिकन खाकर बनाई ऐसी बॉडी, US आने का मिल रहा बुलावा

खली की एकेडमी में जगाधरी के रहने वाले 27 साल के गुरविंद्र उर्फ शैंकी। वर्ल्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट में दिलीप राणा उर्फ खली की तरह देश का नाम रोशन करना चाहते हैं। पिछले महीने अमेरिका से आए बुलाए पर शैंकी दुबई में पांच दिन का ट्रायल दे चुके हैं। अमेरिका जाने के लिए शैंकी को अब रिजल्ट आने का इंतजार हैं। डब्ल्यूडब्ल्यूई की तैयारी के लिए वजन से ज्यादा प्रोटीन…

– शैंकी के परिवार की फाइनेंसियल कंडीशन ज्यादा ठीक नहीं है। उसने जालंधर में खली की एकेडमी में दांव पेंच सीखे। अभी तक कई मुकाबले जीत चुका है।

– शैंकी बताते है कि डब्ल्यूडब्ल्यूई की तैयारी के लिए वजन से ज्यादा डबल प्रोटीन लेना पड़ता है। एक अंडे में चार ग्राम प्रोटीन व 100 ग्राम चिकन में 25 ग्राम प्रोटीन मिलता है। सात फीट के शैंकी में 130 किलोग्राम वजन है। उस हिसाब से हर रोज 260 ग्राम प्रोटीन चाहिए।

प्रोटीन के लिए एक दिन में 40 से ज्यादा अंडे व एक किलो चिकन व चावल, रोटी की आवश्यकता हैं। वह फिलहाल डेढ़ दर्जन अंडे, दलिया, दो लीटर दूध नाश्ते में लेता है।

– दोपहर में फुल चिकन, दाल, एक बड़ी प्लेट चावल, रोटी और शाम के वक्त फिर एक दर्जन अंडे, रात को चिकन, चावल, दाल रोटी खाता है। 50 हजार रुपए उनके खाने में हर महीने खर्च हो जाते हैं।

– शैंकी का कहना है कि यदि उसको पूरी डाइट मिल जाती तो वह एक साल पहले की अमेरिका में लड़ने के लिए चला जाता है। बिलासपुर में एसजीपीसी मेंबर बलदेव सिंह कायमपुरी ने एक लाख का चेक दिया था।

बरोकलेसनर को हराउंगा
– शैंकी का कहना है कि अमेरिका में पहुंचकर डब्ल्यूडब्ल्यूई चैंपियन अमेरिका के बरोकलेसनर को हराकर देश का नाम रोशन करना है। शैंकी के पिता सरदार नरेंद्र सिंह (छह फीट) प्राइवेट नौकरी करते हैं।

– मां नरेंद्र कौर (पांच फीट छह इंच) हाउस वाइफ है। वह दो बहनों का इकलौता भाई है। परिवार किराए के मकान में रहता है। महाराजा अग्रसेन कॉलेज से 2010 में बीकॉम की। दोस्तों के कहने पर 2015 में खली के इंस्टीट्यूट में ट्रेनिंग शुरू की।

 

 

 

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR

Leave a Comment