स्‍मार्टफोन की बैटरी के बारे में बोले जाते हैं 5 झूठ, दुनि‍या मानती है सच

स्‍मार्टफोन यूजर्स की गि‍नती के साथ-साथ स्मार्टफोन को यूज और मेंटेन करने के तरीके भी बढ़ रहे हैं। ऐसे में स्‍मार्टफोन के लि‍ए सबसे जरूरी चीज है उसकी बैटरी, जि‍सका ध्‍यान रखना बहुत जरूरी है। क्‍योंकि‍ मोबाइल फोन की बैटरी को लेकर कई मिथ हैं। ऐसे में सबसे पहले बता दें कि‍ स्मार्टफोन की बैटरी में ब्लास्ट होने के कई कारण हो सकते हैं। ऐसे में जब तक आपके फोन का चार्जर ठीक से काम कर रहा है तब तक बैटरी को कोई नुकसान नहीं होगा, फिर चाहे चार्जर किसी भी कंपनी का हो। वहीं, अगर ऑरिजनल चार्जर भी खराब हो तो बैटरी खराब हो सकती है।

1. क्‍या है झूठ 

ज्‍यादा चार्ज करने से खराब हो जाती है बैटरी।

क्‍या है सही 

अक्‍सर ऐसा कहा जाता है कि‍ बैटरी को ज्‍यादा चार्ज करो तो वह खराब हो जाती है। लेकि‍न ऐसा नहीं है। क्‍योंकि‍ आजकल स्‍मार्टफोन में आने वाली बैटरी चार्जि‍ंग फुल होने पर खुद ही करंट लेना बंद कर देती हैं। ऐसे में यह एकदम झूठ है कि‍ ज्‍यादा चार्ज करने से बैटरी खराब होती है। हालांकि‍ लगातार चार्ज पर लगे रहने से बि‍जली जरूर खर्च होगी।

2. क्‍या है झूठ 

पूरी बैटरी खत्‍म होने के बाद ही चार्ज करें।

क्‍या है सही 

यह गलत धारणा है। अगर आप भी ऐसा सोचते हैं और बैटरी को चार्ज करने के लि‍ए उसके जीरो पर्सेंट होने का इंतजार कर रहे हैं तो ऐसा न करें। इससे बैटरी की लाइफ कम होती है।

3. क्‍या है झूठ 

बार-बार स्‍वि‍च ऑफ करने से खराब होती है बैटरी।

क्‍या है सही 

ऐसा नहीं होता। ये बैटरी का नॉर्मल नेचर है कि‍ अगर आप फोन को स्‍वि‍च ऑफ कर देंगे तो एक तय समय के बाद उसकी बैटरी खुद ही खत्‍म हो जाएगी।

4. क्‍या है झूठ 

बार-बार चार्ज करने से बैटरी खराब होती है।

क्‍या है सही – 

स्‍मार्टफोन का बैटरी बैकअप कम होता है। वहीं, इंटरनेट यूज और बहुत सारे फीचर्स के चलते बैटरी जल्‍दी खत्‍म होती है। ऐसे में यूजर को बार-बार बैटरी चार्ज करनी पड़ती है। इससे बैटरी पर कोई असर नहीं पड़ता।

5. क्‍या है झूठ 

नए फोन को ऑफ करके चार्ज करें।

क्‍या है सही 

नया फोन खरीदने पर हर कोई यह सलाह देता है कि‍ आप फोन को ऑफ करके फुल चार्ज करें। जबकि‍ ऐसा करने की जरूरत नहीं है। इससे कोई फायदा नहीं होता। बल्‍कि‍ फोन में जि‍तनी बैटरी आती है आप उसे यूज करें और फि‍र उसे खत्‍म होने पर चार्ज करें और तब भी आपको फोन ऑफ करने की जरूरत नहीं है।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR