सौर ऊर्जा से अपना ही नहीं, पड़ोसी का घर भी जगमगाया

सौर ऊर्जा का यदि सदुपयोग किया जाए, तो बिजली की काफी बचत की जा सकती है। सौर ऊर्जा से उत्पन्न बिजली काफी इकोफ्रेंडली है। शहर के तांदला में रहने वाले रोहित प्रजापति सौर ऊर्जा से अपने घर के इलेक्ट्रानिक्स आइटम तो चलाते हैं, साथ ही पड़ोसी के घर भी बिजली पहुंचाते हैं। छत पर लगा रखे हैं सोलर पेनल…

रोहित प्रजापति के घर की छत पर दो सोलर पेनल लगे हैं। इससे वे पिछले 14 सालों से अपने घर के पंखे, कूलर, फ्रिज, टीवी, कंप्यूटर तो चला ही रहे हैं, इसके अलावा वे अपने पड़ोसी को भी बिजली देते हैं। इस समय उनका बिजली बिल हर महीने 700-800 रुपए आ रहा है, यदि ये पेनल न होते, तो यह राशि बढ़कर 2000 रुपए हो जाती। उन्होंने अपने घर की छत पर 50 वॉट की 3 और 27 वॉट की एक सौर प्लेट लगवाई है।

50 वॉट का सोलर पेनल लगाने का खर्च साढ़े चार से 5 हजार रुपए

सोलर ऊर्जा से बिजली प्राप्त करना बहुत ही किफायती है। उनका मानना है कि 50 वॉट का सोलर पेनल लगाने का खर्च साढ़े चार से 5 हजार रुपए तक आता है। इसका मेंटेनेंस खर्च भी बहुत ही कम आता है। उल्लेखनीय है कि 36 वॉट के सोलर पेनल से उत्पन्न होने वाली सौर ऊर्जा को 28 घंटे तक उपयोग करने पर एक यूनिट जितनी बिजली खर्च होती है।

सभी को सौर ऊर्जा के रास्ते पर जाना होगा

रोहित भाई कहते हैं कि आज जब पूरा विश्व ग्लोबल वार्मिंग से जूझ रहा है, तो ऐसे में हम सभी को जागरूक होकर सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करना चाहिए, अब वही एक रास्ता बचा है, जिससे हमें पर्यावरण की रक्षा कर सकते हैं।

 

 

 

 

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR