बारिश में भीग गया फोन, तो बिना समय गवाएं फॉलो करें ये 7 STEP

बारिश के मौसम में फोन की भीगने का डर बना रहता है। ऐसे में जरूरी है कि कभी ऐसा मौका आ जाए जब फोन पानी में भीग जाए या पानी में गिर जाए, तब उसे कैसे ठीक किया जाए। फोन में पानी जाने से इसके अंदर के इलेक्ट्रॉनिक पार्ट्स खराब हो सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि इस कंडीशन में उसे ड्राइ कैसे किया जाए इसके बारे में सोचें।

# पानी सुखाने में न करें ये गलतियां

1. फोन को ड्रायर से सुखाने की कोशिश ना करें। ड्रायर बहुत ज्यादा गर्म हवा फेंकता है ऐसे में फोन के सर्किट्स पिघल सकते हैं।
2. अगर फोन भीग गया है तो उसे तुरंत ऑफ करें। किसी और बटन का इस्तेमाल करने से शॉर्ट सर्किट का खतरा काफी बढ़ जाता है।
3. हेडफोन जैक और फोन के यूएसबी पोर्ट का इस्तेमाल तब तक ना करें जब तक फोन पूरी तरह से सूख ना गया हो। इनके इस्तेमाल फोन के इंटरनल पार्ट्स में नमी पहुंचने का खतरा बढ़ जाता है।

# एक्सपर्ट की राय

भोपाल के मोबाइल रिपेयरिंग एक्सपर्ट प्रशांत दिलारे बताते हैं कि मोबाइल के अंदर या बाहर का पानी सुखाने के लिए कभी भी ड्रायर या किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का यूज नहीं करना चाहिए। इससे फोन और ज्यादा खराब हो सकता है। सिलिका जेल के पैकेट या चावल से मोबाइल को सुखाया जा सकता है।

# इन स्टेप्स को करें फॉलो

STEP : 1

फोन पानी में भीग गया है तो सबसे पहले उसे ऑफ कर दें। फोन के ऑन रहते हुए अगर पानी अंदर के किसी हिस्से में चला गया तो शॉट सर्किट हो सकता है। ध्यान रहे अगर फोन पानी में गिर गया है या वो भीग गया है तो ये चेक करने की कोशिश ना करें की उसका कोई बटन चल रहा है या नहीं। सबसे पहले उसे ऑफ करना ही समझदारी होगी।

STEP : 2

भीगे हुए फोन को ऑफ करने के बाद उसकी सभी एक्सेसरीज को अलग कर दें। यानी बैटरी, सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड के साथ फोन से अटैच की हुई कॉर्ड को भी अलग करके सूखे हुए टॉवल पर रखें। इन सभी एक्सेसरीज को अलग करने से शॉर्ट सर्किट का खतरा कम हो जाएगा।

STEP : 3

अगर आपके फोन में नॉन-रिमूवेबल बैटरी है (फोन में फिक्स रहने वाली बैटरी) तो बैटरी निकालकर ऑफ करने का विकल्प खत्म हो जाएगा। ऐसे में पावर बटन को उस समय तक दबाकर रखें जब तक फोन बंद नहीं हो जाता। नॉन रिमूवेबल बैटरी के कारण शॉर्ट सर्किट हो सकता है।

STEP : 4

फोन की एक्सेसरीज को अलग करने के बाद फोन के सभी पार्ट्स को सुखाना जरूरी है। इसके लिए पेपर नैपकिन का इस्तेमाल करना सबसे अच्छा माना जाता है। इसके अलावा, फोन को पोंछने के लिए नरम तौलिए का भी यूज किया जा सकता है।

STEP : 5

टॉवल से पोंछने के बाद सबसे जरूरी काम होगा फोन के इंटरनल पार्ट्स को सुखाना। इसके लिए फोन को एक बर्तन में सूखे चावल से दबाकर रख दें। चावल तेजी से नमी सोखते हैं। ऐसे में फोन के इंटरनल पार्ट्स सूख जाएंगे।

STEP : 6

चावल के बर्तन में अगर फोन को ना रखना चाहें तो सिलिका जेल पैक (silica gel pack) का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। ये जेल पैक्स जूतों के डिब्बों में रखे जाते हैं। इनमें चावल से ज्यादा तेजी से नमी सोखने की ताकत होती है।

STEP : 7

अपने फोन को कम से कम 24 घंटों तक सिलिका पैक या फिर चावल के बर्तन में रखे रहने दें। जब तक ये पूरी तरह सूख ना जाए इसे ऑन करने के बारे में मत सोचिए। फोन के साथ-साथ बैटरी और बाकी एक्सेसरीज को भी चावल में सुखाया जा सकता है। जब तक फोन पूरी तरह से ना सूखे इसे ऑन ना करें।

 इन स्टेप्स के बाद भी फोन ऑन नहीं होता या कोई दूसरी प्रॉब्लम आती हैं, तब उसे सर्विस सेंटर पर दिखाएं।

 

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR