वाहनों में होगा यूनिक कोड, अब बच नहीं पाएंगे चोर

अब आपको अपनी कार चोरी हाेने का डर नहीं सताएगा। देशभर में मोटर वाहनों की चाेरी पर लगाम लगाने के लिए केन्द्र सरकार ने एक खास पहल की है। इसके तहत कोई चाह कर भी आपके वाहन को चुरा नहीं सकता है। केन्द्र सरकार नई तकनीक के तहत एक कार पर 15,000 से भी ज्यादा जगहों पर यूनिक कोड अंकित किया जाता है। ऐसा इसलिए ताकि चोरी हुए वाहन की पहचान आसानी से की जा सके। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, इस तकनीक से मोटर वाहनों की चोरी पर लगाम लगाया जा सकता है। मंत्रालय का मानना है कि दुनिया के कई देशों में इस तरह की तकनीक पहले से ही चली आ रही है। इसमें मोटर वाहन के विभिन्न हिस्साें पर पोलीमर लेप लगायाा जाता है जिसमें यूनिक कोड छिपा रहता है जिसे आप देख नहीं पाएंगे। इसे देखने के लिए या यूं कहें तो इसे पहचानने के लिए लेजर प्रकाश युक्त टाॅर्च की मदद लेनी पड़ेगी। अगर कार चोरी भी हुई तो चोर के लिए 15,000 कोड्स को मिटाना असंभव है। इनका मानना है कि यह कोड बम विस्फोट के बाद भी यह नहीं मिटेगा।

Vehiclaes unique Code

इस यूनिक कोड को लगाने के लिए आपको अधिक पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगें। सिर्फ 500 रुपए तक में आप इस तकनीक का फायदा उठा सकते हैं। 15,000 जगहों पर यूनिक कोड अंकित करने के लिए  500 रुपए खर्च करने पड़ेंगें।

जल्द होगी ट्रायल

परिवहन मंत्रालय की ओर से मिली जानकारी के तहत जल्द ही इस तकनीक का ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा। अगले तीन महीने में ट्रायल शुरू हो सकती है।

Vehiclaes unique Code

इस कोड के हैं कई फायदें

इस कोड के बाद कार चोरी पर लगाम लगने के साथ ही बीमा कंपनियों को काफी हद तक राहत मिलेगी। क्योंकि जब कार चोरी नहीं होगी तो कोई क्लेम ही कैसे करेगा। यह यूनिक कोड पुलिस से लेकर बीमा कंपनियों तक सबके लिए उपयोगी होगा।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR