पूजा के लिए 14 घंटे में 4 मुहूर्त, शाम 6.08 से 8.05 बजे तक का समय सर्वश्रेष्ठ

अाज दीपावली है। 14 घंटे में आप चार मुहूर्त में लक्ष्मी पूजन कर सकते हैं। लग्न के हिसाब से पूजा के लिए शाम 6.08 बजे से रात 8.05 बजे तक का समय सर्वश्रेष्ठ बताया गया है।

चौघड़िया के अनुसार सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त

चर

दोपहर 2:53 से 4:15 बजे तक था

फैक्ट्री, उद्योग

लाभ

दोपहर 4:15 से 5:36

व्यापारी व अन्य

शुभ

शाम 5:36 से 7:15

गृहस्थ के लिए

अमृत

रात 7:15 से 8:54

विद्यार्थियों के लिए

लग्न के अनुसार सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त

प्रदोष काल

शाम 5:36 से 8:14

सभी के लिए

वृषभ स्थिर लग्न

शाम 6:08 से 8:05

सर्वश्रेष्ठ

सिंह लग्न

मध्यरात्रि 12:38 से 2:54

फैक्ट्री व उद्योग

दीपावली पर 59 साल बाद शुक्र, सूर्य, चंद्रमा का दुर्लभ संयोग

ज्योतिषाचार्य दामोदर प्रसाद शर्मा के मुताबिक दीपावली पर शुक्र, सूर्य, चंद्रमा तुला राशि में है, जो मालव्य योग बनता है। जबकि बुध और बृहस्पति वृश्चिक राशि में, शनि धनु राशि में और मंगल कुंभ राशि में हैं। यह दीपावली पर 59 साल में बना श्रेष्ठ संयोग है। इस दिन महालक्ष्मी की पूजा के लिए 13 मिनट का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त रहेगा। जो शाम 6:20 से 6:33 के बीच होगा। इसमें प्रदोष काल, वृष लग्न और कुंभ का स्थिर नवमांश रहेगा।

दुनिया में दिवाली

  • दुनियाभर में 100 करोड़ से ज्यादा लोग दिवाली मना रहे। 15 देशों में आज छुट्‌टी होगी।

  • अमेरिकी राष्ट्रपति दिवाली पर पार्टी देंगे। ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, न्यूजीलैंड समेत 35 देशों के राष्ट्राध्यक्ष कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

  • दिवाली पर 2016 में अमेरिका ने डाक टिकट जारी किया था। करीब दो माह में ही 1 लाख 70 हजार टिकट बिक गए। यूएस पोस्टल सर्विस के इतिहास में यह बेस्ट सेलिंग स्टैंप बनी।

  • ज्यादातर देशों, सभ्यताओं और धर्मों में रोशनी का सबसे ज्यादा महत्व है। दुनियाभर में रोशनी से संबंधित 60 से ज्यादा त्योहार मनाए जाते हैं।

  • नीदरलैंड्स की ट्वेंटे यूनिवर्सिटी ने रिसर्च में पाया कि रोशनी एकाग्रता बढ़ाती है। इसका स्वास्थ्य और मूड पर सकारात्मक असर होता है। यहां तक कि कृत्रिम रोशनी भी हमारे काम करने की रफ्तार बढ़ाती है।

एेसे समृद्ध हो रहे हैं हम

सरकार के स्तर पर : सरकार को 2017-18 में इनकम टैक्स (कंपनी और व्यक्तिगत) से 10.02 लाख करोड़ रुपए मिले। 2012-13 में 5.59 लाख करोड़ रुपए और 2008-09 में 3.34 लाख करोड़ रुपए मिले थे। यानी 5 साल में टैक्स कलेक्शन 79% और 10 साल में 200% बढ़ा है।

कंपनियों के स्तर पर

  • शीर्ष 100 कंपनियों की वैलुएशन 5 साल में 44.9 लाख करोड़ रु. बढ़ी। 5 वर्षों में 144% की ग्रोथ रही।

  • रिलायंस इंडस्ट्रीज 8 लाख करोड़ रु. मार्केट कैप वाली देश की पहली, टीसीएस दूसरी कंपनी बनी। 1.6 लाख करोड़ रु. वैलुएशन के साथ फ्लिपकार्ट सबसे महंगा स्टार्टअप बना।

लोगों के स्तर पर

  • वेतन वृद्धि: 2018 में वेतन वृद्धि 4.9% रही। अर्जेंटीना (7.2%) के बाद भारत दूसरे स्थान पर है।

  • आय: 1,12,835 रु. प्रति व्यक्ति हुई। 5 साल में 64% बढ़ी।

  • इनकम टैक्स: 2017-18 में रिकॉर्ड 6.85 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न फाइल हुए। पिछले साल से 23% ज्यादा।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR