मेक्सिको /समुद्री जीवों को बचाने के लिए पानी में बनाया दुनिया का सबसे बड़ा हाइटेक अंडरवाटर म्यूजियम

अगर समुद्र की दुनिया देखने के शौकीन हैं और कुछ नया देखना चाहते हैं तो दुनिया के सबसे बड़े अंडर वाटर म्यूजियम का सफर बेहद रोमांचक साबित होगा। मेक्सिको के मॉन्यूमेंटल अंडरवाटर कंटेंप्रेरी म्यूजियम ऑफ आर्ट में 28 फीट नीचे मौजूद 500 स्कल्पचर समुद्र की दुनिया का अलग अनुभव देते हैं। मेक्सिको की खाड़ी में मौजूद इस्ला आइलैंड के किनारे पर बने हाइटेक अंडरवाटर म्यूजियम देखने के लिए डाइविंग की मदद से जाया जा सकता है।

2009 में हुई थी शुरुआत 
इस प्रोजेक्ट की शुरुआत 2009 में हुई  थी। जिसका लक्ष्य दुर्लभ मेसोअमेरिकन रीफ और समुद्री जीवों को बचाना था। फाउंडर के संस्थापक रॉबर्टो अब्राहम के मुताबिक यहां मौजूद स्कल्पचर में कोने और दरारों को ऐसे बनाया गया है ताकि ये समुद्री जीवन को बढ़ने के साथ जीवों को सुरक्षित रख सकें। इसे आर्ट ऑफ कंजरर्वेशन का नाम भी दिया गया है। 6 कलाकारों की मदद से यहां मौजूद स्कल्पचर्स को तैयार किया गया है।

कोरल की ग्रोथ बढ़ेगी
समुद्र में कोरल (कॉलोनी बनाकर रहने वाला समुद्री जीव) की ग्रोथ बढ़ाने के लिए इसे लोकल लेवल पर तैयार करने के बाद मैरीन ग्रेड सीमेंट की सीमेंट की ऐसी लेयर चढ़ाई गई जिस पर कोरल आसानी से विकसित हो सके। इससे पानी में शैवालों को ग्रोथ भी बढ़ाई जा सकती है। साथ ही समुद्र की सतह पर खूबसूरती बढ़ने से स्कल्पचर डाइवर्स को आकर्षित करेंगे।

पानी में हर आहट पर नजर
म्यूजियम की खासियतों में शामिल है यहां का ऑडियो सिस्टम। समुद्र जीवों को बचाने वाले और रिसर्च से जुड़े शोधकर्ता यहां के ऑडियो सिस्टम पर नजर रखते हैं जिससे यहां की हर हरकत का पता चलता है। समुद्र के तल पर एक हाइड्रोफोन लगा गया है जिसे ‘द ईयर’ का नाम दिया गया है। यहां से आवाज के माध्यम से नजर रखी जाती है।

दो घंटे के टिकट की कीमत 4,282 रुपए
म्यूजियम साल पर पयर्टकों के लिए खुला रहता है। संरक्षित क्षेत्र होने के कारण यहां जाने से पहले आपको परमिशन लेनी पड़ती है। यात्री रास्ता न भटकें इसलिए यहां म्यूजियम के चुनिंदा गाइड के साथ ही जा सकते हैं। एक टिकट करीब दो घंटे के लिए जारी होता है जिसकी कीमत 4,282 रुपए है।

 

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR