अब वृद्धों, दिव्यांगों और विधवा को तोहफा देने की तैयारी, पांच गुना होगी पेंशन, 15 जनवरी को फैसला

2019 के लोकसभा चुनावों से पहले केंद्र की मोदी सरकार ने देश के वृद्धों, दिव्यांगों और विधवा महिलाओं को बड़ा तोहफा देने की तैयारी की है। एक रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार वृद्धों, दिव्यांगों और विधवा महिलाओं की पेंशन को पांच गुना करने की तैयारी कर रही है। 15 जनवरी को होने वाली सामाजिक सहायता कार्यक्रम की बैठक में इस पर फैसला लिया जा सकता है। यह बैठक केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव की अध्यक्षता में होगी।

इतने लोगों को होगा फायदा
सरकारी आंकड़ों के अनुसार, इस समय देश में करीब 3 करोड़ लोगों को पेंशन दी जाती है। इसमें 2.40 करोड़ बुजुर्ग, 60 लाख विधवाएं और करीब 10 लाख दिव्यांग शामिल हैं। अलग-अलग राज्यों में इनकों प्रतिमाह 200 रुपए से लेकर 500 रुपए तक पेंशन दी जाती है। अब सरकार की योजना इन सभी को कम से कम 1000 रुपए की पेंशन देने की योजना है। इसके लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय ने सामाजिक आर्थिक जनगणना के आधार पर 48 हजार करोड़ रुपए की योजना बनाई है।

बैठक में केंद्र-राज्य की हिस्सेदारी पर होगी चर्चा

रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने 15 जनवरी को होने वाली बैठक के लिए सदस्य राज्यों, स्वयंसेवी संस्थाओं समेत सभी हिस्सेदारों को बुलाया है। इसमें सभी हिस्सेदारों से पेंशन के मद में दी जाने वाली राशि के लिए केंद्र और राज्य का शेयर तय करने पर चर्चा की जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार, सरकार केंद्र और राज्य का शेयर 50-50 फीसदी करने पर सहमति बना सकती है। बढ़ी हुई पेंशन 1 अप्रैल 2019 से दी जाएगी। इससे केंद्र पर हर साल करीब 50 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

अभी यह है स्थिति

अभी सभी राज्यों में अलग-अलग पेंशन दी जाती है। दिल्ली, हरियाणा और आंध्र प्रदेश में वृद्धावस्था पेंशन के रूप में 1000 हजार रुपए देते हैं। वहीं यूपी, बिहार, राजस्थान, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश में 300 से 650 रुपए तक की राशि दी जाती है। केंद्र की इस योजना से देश के करीब 3 करोड़ लोगों को फायदा होगा।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR