जन्मदिन के दिन जरूर करें ये पूजा, छप्पर फाड़ के मिलता हैं धन

जन्मदिन के दिन जरूर करें ये पूजा, छप्पर फाड़ के मिलता हैं धन

जिस दिन हमारा जन्म होता हैं उस दिन को हर कोई बेहतरीन बनाने का प्रयास करते हैं, आगामी भविष्य के लिये नये नये संकल्प भी लेते हैं । लेकिन यह बात शायद ही कम लोग जानते होंगे की जन्मदिन वाले दिन अगर इनकी ये छोटी से पूजा को विधि विधान से सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त से पहले तक कर लें तो उसके जीवन में धन वैभव का कभी भी अभाव नहीं रहता, उसकी झोली में छप्पर फाड़ धन मिलने के योग बन जाते हैं । जाने जन्मदिन के मौके पर कौन सी और किसी पूजा करें जो आपके जीवन अपार खुशियों की सौगात लेकर आ सकता हैं ।

पं. प्रदीप कुमार मिश्रा ने पत्रिका डॉट कॉम को बताया की हमारे धर्म शास्त्रों एवं ज्योतिष शास्त्र में जन्मदिन मनाने का बहुत ही मह्त्व एवं पूजा पाठ का विधान बताया हैं जिसे करने पर व्यक्ति के जीवन में चारों तरफ से शुभ ही शुभ होने लगता हैं, उसे अनेक देवशक्तियों का आशीर्वाद भी मिलता ही लेकिन अगर इस विशेष दिन यानी की जन्मदिन के शुभ अवसर पर अगर अष्टचिरंजीवियों की पूजा करते हैं, तो निश्चित रूप से हमें दीर्घायु तथा उत्तम एवं सुखी जीवन का आशीर्वाद मिलता है और इनकी कृपा से अथाह धन की प्राप्ति भी होती हैं ।

जिस दिन आपका या अपने घर परिवार में किसी का जन्मदिन तो इन अष्टचिरंजीवी- हनुमान, विभीषण, कृपाचार्य, परशुराम, मार्कण्डेय ऋषि, अश्वथामा, दैत्यराज बलि और वेद व्यासजी का विशेष विधि विधान से पूजन करना चाहिए । क्योंकि इन आठों चिरंजीवी को अमरत्व का वरदान प्राप्त हैं ।

जन्मदिन पर अष्टचिरंजीवी का पूजन सुबह षोडशोपचार विधि से ही करना चाहिए, इससे ये सभी अति प्रसन्न हो जाते हैं और इनकी कृपा से जीवन में अनेक लाभ मिलते हैं-

1- जन्मदिवस वाले दिन इनका पूजन करने से जीवन में इनके शुभ आशीर्वाद से अथाह धन की प्राप्ति होती हैं ।
2- घर-परिवार में खुशियों के साथ रुपए-पैसे की बरकत होती है, धनधान्य की कमी कभी नहीं होती ।
3- जन्मदिवस वाले दिन इनका पूजन करने से जीवन में आने वाली विपरीत घटनाओं से हमारी रक्षा होती है तथा हमें भी दीर्घायु जीवन का प्राप्त होता हैं ।
4- इनका पूजन करने से जीवन में आनेवाले सारे दुःख अपने आप समाप्त होते है ।
5- अगर छोटे बच्चों के जन्मदिन पर इनका पूजन किया जाये तो उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में हमेशा कामयाबी मिलती हैं ।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR