केन्या के इंजीनियर ने बनाए स्मार्ट दस्ताने जो साइन लैंग्वेज को आवाज में बदल देते हैं

  • दस्तानों को मोबाइल एप्लिकेशन से जोड़ा गया है, जो हाथों के इशारों को पहले डाटा में बदलकर ऑडियो में बदल देते हैं

  • जेंडर और भाषा के अलावा आवाज में उतार-चढ़ाव की सुविधा भी दी गई है

केन्या के 25 साल के इंजीनियर रॉय एलेला ने ऐसे स्मार्ट दस्ताने बनाए हैं जो साइन लैंग्वेज को ऑडियो में तब्दील कर सकते हैं। इसका नाम दिया गया है साइनआईओ। ऐसे लोग जो सुन और बोल नहीं सकते हैं वे दस्ताने पहनकर अपनी बात को आवाज दे सकते हैं। टेक कंपनी इंटेल में बतौर प्रोगाम मैनेजर काम कर रहे रॉय एलेला के मुताबिक, ये दस्ताने दिव्यांगों की आवाज बनेंगे।

सुविधानुसार भाषा चुनने का है विकल्प

''

  1. रॉय एलेला ने स्मार्ट दस्तानों को एंड्रॉयड एप्लिकेशन से जोड़ा है। जब भी कोई दिव्यांग इसे पहनता है और साइन लैग्वेज की मदद से इशारे करता है तो इससे तैयार होने वाला डाटा ट्रांसमिट होकर एप्लिकेशन में जाता है। प्रॉसेसिंग के बाद यह डाटा ऑडियो में तब्दील हो जाता है, जिससे सामने वाला व्यक्ति दिव्यांग की बात को सुन सकता है।

  2. एंड्रॉयड एप्लिकेशन में कई भाषाएं उपलब्ध कराई गई हैं। यूजर अपनी भाषा चुनने के साथ अपने जेंडर के मुताबिक आवाज में उतार-चढ़ाव भी ला सकता है। एप के परिणाम 93 फीसदी तक सटीक रहे हैं।

  3. रॉय को दुनिया की सबसे बड़ी मैकेनिकल इंजीनियरिंग सोसायटी की ओर से हार्डवेयर ट्रेलब्लेजर अवॉर्ड भी मिल चुका है। इसके साथ ही अफ्रीका प्राइज फॉर इंजीननियरिंग 2019 के लिए भी शॉर्टलिस्ट किए गए हैं।

  4. रॉय एलेला का कहना है कि दुनियाभर में 30 मिलियन लोग ऐसे हैं जो बोल नहीं सकते है। उनके लिए स्मार्ट दस्ताने एक ब्रिज की तरह काम करेंगे। इसे बनाने की प्रेरणा मुझे मेरी दिव्यांग भतीजी से मिली। वह अब दस्ताने पहनकर अपनी साइन लैंग्वेज में अपनी बात कहती है और मैं उसे सुन पाता हूं।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR