मात्र 30 रुपए में 22 किमी. चलेगी आपकी कार, 15 मिनट में हो जाएगा काम

केंद्र सरकार देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं शुरू कर सकती है। इसके तहत  इलेक्ट्रिक वाहनों के रजिस्ट्रेशन, रोड चार्जर में छूट दी जा सकती है। इस मामले में नीति आयोग ने एक प्लान तैयार किया गया है, जिसमें राज्यों को इलेक्ट्रिक वाहनों पर छूट देने का निर्देश दिया है। नीति आयोग के इस प्लान को पीएमओ की मंजूरी भी मिल गई है।

30 रुपए के टॉपअप में 22 किमी का सफर

केंद्र सरकार दिल्ली के भीड़भाड़ वाले इलाकों में इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर रही है। इसके तहत 15 मिनट में 30 रुपए के टॉपअप से 22 किमीं. तक की सवारी की जा सकेगी। एनर्जी एफिसिएंस सर्विस के (EESL) के मैनेजिंग डायरेक्टर सौरभ कुमार ने कहा कि हम दिल्ली के पब्लिक पार्किंग स्पेस और हाई विजिबिल्टी एसिया में फॉस्ट चार्जिंग स्टेशन बनाएंगे। उन्होंने कहा कि जब लोग कई जगह चार्जिंग स्टेशन देखेंगे, तो इलेक्ट्रिक कार खरीदेंगे। सौरभ के मुताबिक इलेक्ट्रिक वाहन को फुल चार्ज होने में 90 मिनट लगेंगे।

मार्च अंत तक बनाए जाएंगे 84 स्टेशन  

स्टेट रन EEST दिल्ली में मार्च के अंत तक 84 ऐसे स्टेशन बनाएगा। इसमें लुटियन्स जोन के खान मार्केट, जशवन्त प्लेस के अलावा नई दिल्ली नगर परिषद के अन्य इलाकों को शामिल किया गया है। यूजर अपने मोबाइल ऐप या फिर इलेक्ट्रिक फाई से चार्जिंग कर सकेंगे। साथ ही चार्चिंग के लिए एक स्लॉट बुक कर सकेंगे। शुरूआती चरण में चार्जिंग स्टेशन भारत डीसी-0001 आधारित इलेक्ट्रिक मॉडल के लिए होंगे। इसमें टाटा मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा के वाहन शामिल होंगे। इसके अलावा अन्य इलेक्ट्रिक वाहन की चार्जिंग के लिए भी स्पेस होगा। इलेक्ट्रिक टू और थ्री व्हीकल की चार्जिंग के लिए 15वॉट के चार्जर की जरूरत होगी।

Electric vehicle

BSES का BRPL के साथ हुआ करार

सरकार के अलाव अन्य स्तर पर भी इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके तहत टेक्नोलॉजी क्षेत्र की कंपनी ईवीआई टेक्नोलॉजीज ने बिजली आपूर्तिकर्ता कंपनी बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड (बीआरपीएल) के साथ दिल्ली में ईवी चार्जिंग स्टेशन लगाने के लिए करार किया है। ईवीआई टेक्नोलॉजीज एक स्टार्टअप है जो इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए एसी और डीसी चार्जर के विकास और निर्माण कार्य में लगा हुआ है। कंपनीकी राजधानी में ईवी चार्जिंग स्टेशन के लिए डिस्कॉम के साथ करार हुआ है, जहां पांच रुपए प्रति यूनिट की दर से ईवी चार्जिंग सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

Electric vehicle

डोरस्टेप पर मिलेगी सुविधा 

ये सभी बैटरी चार्जिंग / बैटरी स्वैपिंग स्टेशन मोबाइल यानी सचल होंगे और इसलिए कंपनी अपने ग्राहकों को किसी भी स्थान पर डोरस्टेप डिलीवरी की सुविधा भी प्रदान करेगी। कंपनी के मुताबिक कॉल करने के 20-30 मिनट के भीतर लोगों तक सुविधा पहुंच जाएगी। कंपनी का लक्ष्य इस साल जून के अंत तक 100 बैटरी स्वैपिंग आउटलेट बनाना है। कंपनी ने ईवी बनाने वाली कंपनियों से उनके वाहनों में एक जैसी बैटरी की आपूर्ति करने किये जाने पर चर्चा की है।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR