एक्सट्रा इनकम के लिए कर सकते हैं ये 5 साइड बिजनेस, इनकम में होगा इजाफा

अकसर लोग एक्सट्रा इनकम (Extra Income) के लिए साइड बिजनेस (Side Business) करना चाहते हैं। लेकिन नौकरी की वजह से समय की कमी या बिजनेस की समझ न होने के कारण ऐसा नहीं कर पाते। आज हम आपको ऐसे साइड बिजनेस के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें शुरू करने के लिए हफ्ते का एक दिन भी काफी है।

दुनिया भर में फेमस हैं साइड बिजनेस 
–    ये साइड बिजनेस दुनिया भर में काफी फेमस हैं, और छोटे स्तर से लेकर बड़े स्तर तक सफलता पूर्वक चल रहे हैं।
–    इन जॉब में हर दिन परफॉर्म करने की जरूरत नहीं होती है, आप हफ्ते या दस दिन में एक या दो दिन इस जॉब के लिए चुन सकते हैं।
– अपने जॉब के साथ अवसरों की तलाश जारी रखी जा सकती हैं, वहीं डील मिलने पर हफ्ते का एक दिन प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए काफी है।
–    इन जॉब में आय दो तरह से होती है। शुरुआती समय में क्लाइंट और प्रोजेक्ट के हिसाब से पेमेंट होता है। वहीं, अनुभव बढ़ने के साथ आप अपनी फीस तय कर सकते हैं।

किचन गार्डन/लॉन केयर टेकर
–    आज-कल लोग अपने घरों, छतों और बालकनी को ज्यादा से ज्यादा हरा भरा रखने को प्राथमिकता दे रहे हैं, इसके लिए लोग अच्छे पैसे भी ऑफर कर रहे हैं
–    अगर आपको किचन गार्डन और लॉन को संवारने का शौक है और इसके बारे में जानकारी है तो आप लोगों को सर्विस ऑफर कर सकते हैं।
–    विदेशों में केयर टेकर न केवल गार्डन की डिजाइन में मदद करते हैं, साथ ही हर दूसरे हफ्ते या महीने में एक बार विजिट का कॉन्ट्रेक्ट भी लेतें है जिससे प्लांट की ग्रोथ और लॉन की देखभाल की जा सके।
–    आप एक या दो क्लाइंट से शुरुआत कर सकते हैं, हफ्ते के किसी एक दिन आप गार्डन या लॉन डेवलप कर सकते हैं। नर्सरी के डेवलप प्लांट को शिफ्ट करने से ये काम ज्यादा समय नहीं लेता।
–    बगीचा डेवलप करने की फीस में प्लांट की कीमत, लैडस्केप डिजाइन और मेंटीनेंस शामिल होता है।

रीस्टोरेशन कारोबार
–    रीस्टोरेशन बिजनेस में आप अपना वक्त अपने हिसाब से चुन सकते हैं।
–    विदेश में ये जॉब दो तरह से किए जाते हैं, एक बिजनेस मॉडल में आम लोग आपके पास सामान लाकर उसे ठीक कराते हैं। वहीं दूसरा आप खुद पुराना सामान खरीद कर उसे बेहतर बनाकर बेचते हैं।
–    दूसरे तरह के बिजनेस मॉडल में आप  वीकेंड का इस्तेमाल कर सकते हैं।
–    इस बिजनेस मॉडल में कारोबारी पुराना सामान या यूज्ड सामान बेचने वाली वेबसाइट के जरिए पुराने सामान को खरीदता है।
–    इस सामान को वो या तो खुद नया रूप दे सकता है या दूसरे एक्सपर्ट के जरिए इसे रीस्टोर करता है।
–    नए और रीस्टोर हुए प्रोडक्ट को एक बार फिर उसी वेबसाइट के जरिए बिक्री के रख दिया जाता है। नई कीमत में खरीद, रीस्टोरेशन की लागत और अपना मार्जिन शामिल होता है।

टूरिज्म ब्लॉगर
–    अधिकांश सक्सेसफुल टूरिज्म ब्लॉगर ने इसी तरह से अपना काम शुरू किया है।
–    2016 के टॉप ब्लॉगर में से एक के मुताबिक छुट्टी के दिन शहर में घूमने निकलना और अनुभव को लिखने से ही उनके करियर की शुरुआत हुई।
–    आयरिश मूल के जॉनी वार्ड ने बाद में 20 हजार डॉलर की जॉब छोड़कर ब्लॉगिंग को भी अपना काम बना लिया
–    आप भी अपनी छुट्टी के दिन घूमने निकलिए, हालांकि इस बार अपने अनुभव को यूट्यूब, सोशल मीडिया के जरिए लोगों से साझा कीजिए।
–    अगर आपके पोस्ट लोगों को पसंद आए तो आपके लिए नए करियर की शुरुआत हो सकती है।
–    कमाई इस बात पर निर्भर है कि आपकी पोस्ट को कितने लोग पसंद कर रहे हैं। आपके पोस्ट पर लोगों की संख्या बढ़ने या फिर किसी कंपनी से पोस्ट स्पॉन्सर होने पर कमाई लाखों में पहुंच सकते हैं।

स्पेशल ट्यूटर
–    आम ट्यूटर के बारे में हम सभी जानते हैं, जिसमें किसी सब्जेक्ट की ट्यूशन बच्चे करीब करीब पूरे हफ्ते लेते हैं।
–    हालांकि पढ़ाई से अलग कुछ काम ऐसे होते हैं जो पैरेंट्स चाहते हैं कि उनके बच्चे सीखें। इसमें फॉरेन लैग्वेंज, पर्सनालिटी डेवलपमेंट, आर्ट, स्कल्पचर, ड्राइंग, ऑरेगेमी से लेकर मार्शल आर्ट तक शामिल हैं।
–    वहीं किसी खास प्रॉब्लम से पीड़ित बच्चों को भी स्पेशल ट्यूटर की मदद चाहिए होती है।
–    बच्चों की अपनी पढ़ाई और समय को देखते हुए ये स्पेशल ट्यूटर हफ्ते में एक या दो दिन ही ट्यूशन देते हैं।
–    अगर आपके पास किसी खास एक्सट्रा करिकुलर एक्टीविटी में महारत है तो आप हफ्ते में कुछ घंटे इन ट्यूशन को दे सकते हैं।

लग्जरी प्रॉपर्टी मैनेजर
–    विदेशों में लग्जरी प्रॉपटी की बिक्री एक अलग सेग्मेंट है, इसके लिए नॉर्मल मार्केटिंग स्ट्रैटजी काम नहीं करती।
–    3 बीएचके से बड़े फ्लैट, पेंटा हाउस, फॉर्म हाउस की बिक्री के लिए काफी प्रोफेश्नल अप्रोच रखना पड़ता है।
–    विदेशों में इस जॉब से जुड़े लोग वीकेंड में पोटेंशियल क्लाइंट को टूर ऑफर करते हैं, जिसमें क्लाइंट को लोकेशन पर ले जाया जाता है। डील साइज बड़े होने की वजह से आमतौर पर ऐसे टूर कई दिनों से लेकर हफ्तों के फॉलोअप के बाद ही संभव है
–    अगर आप पहले से ही मार्केटिंग फील्ड में हैं और आपका अमीर लोगों से मिलना जुलना बना रहता है। तो आप इस आकर्षक साइड बिजनेस में उतर सकते हैं।
–    आपको किसी लग्जरी प्रापर्टी के डिवेलपर से कॉन्ट्रैक्ट कर लोकेशन और प्रोडक्ट की जानकारी ले सकते हैं। अपने जॉब के दौरान आप क्लाइंट को अपने इस साइड बिजनेस के बारे में भी बता सकते हैं।
–    इस जॉब में मार्केटिंग स्किल जरूरी है, वहीं डील में काफी समय भी लगता है। हालांकि सेल्स के बाद इन्सेंटिव इस स्तर पर हैं कि अगर आप 3 से 6 महीने में भी एक डील कर लेतें हैं तो भी आपके लिए सौदा फायदा का होगा।

NEWS SOURCE-- DAINIK BHASKAR